You are currently viewing 5Gi क्या है ? 5Gi और 5G मे क्या अंतर है

5Gi क्या है ? 5Gi और 5G मे क्या अंतर है

5Gi क्या है ? 5Gi और 5G मे क्या अंतर है – 5G Technology इन दिनों काफी सुर्खियां बटोर रहा है क्योंकि भारत में 5G का Trail शुरू हो गया है और  सरकार द्वारा मंजूरी मिल गई उनमें से काफी कंपनियों ने 5G Trail पर काम करना चालू भी कर दिया है उनमें से प्रमुख कंपनियां है Reliance Jio, Airtel, Vi और BSNL व MTNL Telecom Companies है।

5G Mobile Phone भारत में काफी पहले दस्तक दे चुका है और भारत में सबसे पहले 5G मोबाइल फोन launch करने वाली कंपनी Mi है और इसके साथ-साथ भारत में विभिन्न कंपनियों ने बारी-बारी से अपना 5G Smartphone Launch किया है।

हमारे Telecom Sector में अब एक नया नाम उभर कर आ रहा है जिसमें हम 5G Network की जगह 5Gi Network का इस्तेमाल करेंगे जो भारत द्वारा निर्मित नई टेक्नोलॉजी है जिसे हम घर की खेती भी कह सकते हैं अब हमारे मन में यह सवाल आ रहा होगा कि भारत में 5Gi कैसे काम करेगा और 5G व 5Gi में क्या difference है इसके साथ-साथ आपके मन में अन्य और सवाल उबर के आ रहे होंगे तो घबराइए मत इन सभी सवालों का जवाब मैं इस आर्टिकल में देने की कोशिश करूंगा।

 

5Gi क्या होता है ? – 5Gi in hindi

5Gi हम सभी इंडियंस के लिए एक नई उपलब्धि है क्योंकि यह है टेक्नोलॉजी हमारे भारतीय संस्थाओं द्वारा बनाई गई है जो कि IIT Madras और IIT Hyderabad द्वारा बनाई गई है, भारतीय सरकारी टेलीकॉम विभाग द्वारा इसे प्रमाणित किया गया है जिसे हम DoT (डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन) के नाम से जानते हैं और इसे हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर local version ऑफ 5G कह सकते हैं। भारतीय 5G टेक्नोलॉजी को ITU यानी (इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशन यूनियन) द्वारा भी अनुमति मिल गई है या प्रमाणित कर दिया गया है।

हम सभी भारतीय को गर्व महसूस करना चाहिए की हमारा भारत देश ITU द्वारा तीसरा प्रमाणित 5G टेक्नोलॉजी पर काम करने वाला देश बना है जो कि एक भारतीय द्वारा बनाया गया 5जी टेक्नोलॉजी है जिसे हम 5Gi यानी 5G इंडिया कहते हैं।

 

5Gi कैसे काम करता है ?

5Gi millimeter-wave टेक्नोलॉजी पर काम करता है और इसमें सबसे अच्छी बात यह है कि यह है lower range spectrum के साथ भी काम करता है इसका मतलब होता है कि कम frequency में ज्यादा area cover करना।

भारतीय निर्मित 5Gi Technology के लिए हमें अलग से कोई Spectrum और Band की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि यह पुराने किसी भी Spectrum और Band पर काम करती है।

 

 5Gi के फायदे जो कि निम्न है 

अभी भी हमारे भारत की लगभग जनसंख्या गांव देहात में बस्ती या रहती है अगर आधुनिकता की बात की जाए तो गांव में अभी भी अच्छा टावर Signal नहीं मिलता है और इससे काफी टेलीकॉम कंपनियां भी इस चीज पर ध्यान देने की कोशिश कर रही हैं मगर सफल नहीं हो पा रही हैं इसी को ध्यान में रखते हुए 5Gi टेक्नोलॉजी को विकसित किया गया है जिससे गांव में लोगों को अच्छा सिग्नल मिल सके और Internet Speed भी अच्छा रहे जिस प्रकार शहरों में टावर सिग्नल और इंटरनेट स्पीड अच्छी रहती है ठीक उसी प्रकार गांव में यह सारी चीजें पहुंचाने का कार्य 5Gi टेक्नोलॉजी इस काम में सहयोग कर रही है।

 

उदाहरण के तौर पर हम ऐसे समझ सकते हैं कि गांव में अभी भी इंटरनेट स्पीड काफी धीरे चलती है चाहे हमारे पास 4G सिम हो उसके बावजूद भी हमें 2G 3G का स्पीड मिलता है इस समस्या से लगभग सभी गांव देहात के लोग परेशान रहते हैं इसी समस्या को दूर करने के लिए 5Gi टेक्नोलॉजी को विकसित किया गया है जिसके कारण हम शहर की अपेक्षा अच्छी इंटरनेट स्पीड और HD quality की Voice Call हम कर सकते हैं।

 

5G और 5Gi मे क्या अंतर है ?

5G टेक्नोलॉजी में जैसे-जैसे हम frequency को बढ़ाते हैं तो नेटवर्क का एरिया कम होता जाता है यानी हमें कम Signal मिलता है।

वही 5Gi Technology में कि इसका ठीक उल्टा होता है इसमें हम जैसे-जैसे हम frequency को कम करते हैं तो हमें strong signal मिलता है यानी नेटवर्क एरिया बढ़ते जाता है।

 

5Gi की राह की रुकावटें है

वैसे तो 5G और 5Gi की अपनी-अपनी खासियत है मगर सोचने की बात यह है कि सभी Telecom  Company द्वारा 5G पर Testing लगभग खत्म हो गई है और टेस्टिंग के ऊपर काफी पैसा खर्च कर चुकी है इसके  बावजूद अगर वह 5G आई टेक्नोलॉजी को अपनाना चाहेंगे तो काफी खर्चा बैठ जाएगा लेकिन अगर बड़े पैमाने पर 5Gi पर काम किया जाए तो खर्चा कम हो सकता है और भारत में 5G आई टेक्नोलॉजी का विकास हो जाएगा ।

पैसे के साथ-साथ इन दोनों टेक्नोलॉजी में यह भी दिक्कत आई है कि अगर 5Gi भारत में हो जाएगा तो विश्व में या किसी अन्य देश में अगर हम अपना फोन ले जाएंगे तो वहां पर हमारा नेटवर्क काम नहीं करेगा क्योंकि वहां पर दूसरा band लगा होगा यह प्रक्रिया COAI (सलूरा ऑपरेशन एसोसिएशन ऑफ इंडिया) के जनरल डायरेक्टर SP Kochhar द्वारा कहा गया है इससे पहले भी यह समस्या आई है कि भारत में जो मोबाइल फोन लांच हुए हो वह विदेश में जाकर वहां के नेटवर्क के साथ नहीं जुड़ पाते हैं।

 

Reliance Jio,  Airtel और VI की प्रतिक्रिया है ?

वही Jio ने 5Gi के ऊपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अगर हमें 5Gi बनाने वाले सामान या equipment सस्ते में मिल जाएंगे हमारे 5G distributor Nokia, Samsung, Ericsonn और Huawei द्वारा तो हम 5Gi के ऊपर काम करने के लिए तैयार हैं।

वही एयरटेल ने साफ मना कर दिया है उनके द्वारा यह प्रक्रिया दी गई है कि हमने 5G Testing के ऊपर काफी पैसा खर्च कर चुके हैं और हम 5Gi को अपनाने में सक्षम नहीं है,Vi ने 5Gi अपनाने के लिए साफ मना कर दिया है।

वही टाटा संस लिमिटेड नेटवर्क द्वारा 5Gi में काफी रूचि दिख रही है उन्होंने तेजस नेटवर्क के साथ मिलकर काम करने का तय किया है और वह रिलायंस जिओ कंपनी को टक्कर देने के लिए वह एयरटेल के साथ 5G आई पर काम करने के लिए विचार कर रहे हैं।

 

5G आई के कारण स्मार्टफोन के मार्केट पर क्या असर पड़ेगा ?

जो अभी भारत में स्मार्ट मोबाइल फोन भारत में लांच हुए है या होने वाले हैं वह कंपनियां Xiaomi, Realme, OPPO, Vivo, Samsung, Nokia, OnePlus, POCO और Apple इन्होंने Global 5G Technology का इस्तेमाल किया है यानी पूरे विश्व में हम कहीं भी 5G network का इस्तेमाल कर पाएंगे मगर वही 5G आई में दिक्कत सामने आ रही है कि यह सिर्फ इंडियन वर्जन 5Gi है यह ग्लोबल 5G टेक्नोलॉजी पर काम नहीं कर पाएगी और हमारा मोबाइल धरा का धरा रह जाएगा सिर्फ उसमें 4G नेटवर्क ही चलेगा।

5Gi भारत के लिए एक अच्छी टेक्नोलॉजी है क्योंकि यह हमारे द्वारा बनाई गई देसी 5G network है और हम सभी को गर्व करना चाहिए की यह अंतरराष्ट्रीय टेलीकम्युनिकेशन द्वारा प्रमाणित कर दिया गया है जिसे इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशन यूनियन कहा जाता है और भारत में सभी टेलीकॉम कंपनियां इस प्रयास में लगी है कि 5 जी और 5 जी आई एक साथ काम करने में सक्षम हो जाए।

वही TRAI (टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया) के द्वारा COAI (सेल्यूलर ऑपरेशनसन ऑफ इंडिया) और टेलीकॉम ऑपरेटर्स को यह निर्देश दिया गया है कि आप सभी 5Gi का इस्तेमाल करें और उसकी कमियों को दूर करें ।

 

Conclusion

मुझे उम्मीद है आपको इस लेख मे 5Gi क्या है ? 5Gi और 5G मे क्या अंतर है  पूरा जानने को मिला होगा इस आर्टिकल को अपने सभी दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करे धन्यवाद |

 

Leave a Reply